जमीन नामांतरण मध्य प्रदेश (नामांतरण पंजी व प्रक्रिया देखें) MP Namantran

By | January 1, 2023
Namantran MP

जमीन नामांतरण मध्य प्रदेश:- मध्य प्रदेश के किसी भी क्षेत्र में अचल संपत्ति की रजिस्ट्री प्रक्रिया से गुजरने के बाद उक्त संपत्ति को खरीदार के नाम उत्परिवर्तन करना ही नामांतरण कहलाता है। नामांतरण (Mutation) हो जाने के बाद ही यह अचल संपत्ति नए मालिक के नाम ट्रांसफर कर दी जाती है। इस प्रक्रिया को नामांतरण दर्ज करना, दाखिल खारिज करना या Mutation दर्ज करना कह सकते हैं। मध्य प्रदेश के प्रमुख आयुक्त राजस्व विभाग द्वारा नामांतरण प्रक्रिया को पूर्ण किया जाता है। यदि आप हाल ही में अपनी जमीन की रजिस्ट्री करवा चुके हैं। तो अब आपको नामांतरण दर्ज करने की प्रक्रिया तथा नामांतरण पंजी निकालने की प्रक्रिया से अवगत रहना चाहिए।

Namantran MP कैसे चेक करें या नामांतरण कैसे दर्ज करें इस संबंध में विस्तार पूर्वक प्रक्रिया लेख में दी जा रही है। आप इस लेख में नामांकन दर्ज करने की प्रक्रिया के साथ-साथ नामांतरण की पंजी, नजूल भूमि के  हस्तानांतरण और MP Namantran Status को आसानी से जानने के लिए लेख में अंतर बना रहे।

Namantran MP (जमीन नामांतरण मध्य प्रदेश)

गत वर्ष पहले मध्यप्रदेश में संपत्ति पंजीकरण के कुछ समय बाद तक भी नामांतरण प्रक्रिया पूर्ण नहीं होती थी। क्योंकि इसे पहले मैनुअली विभाग द्वारा किया जाता था। अब ऑनलाइन खुद खरीदार अपनी जमीन का नामांतरण ऑनलाइन दर्ज कर सकते हैं। तथा मध्य प्रदेश नामांतरण पंजी को ऑनलाइन देख सकते हैं। मध्य प्रदेश मुख्य आयुक्त राजस्व विभाग द्वारा ऑफिशल पोर्टल rcms.mp.gov.in/ लॉन्च कर दिया है। इस पोर्टल पर आप जमीन से जुड़ी सभी जानकारी एवं शिकायतों को आसानी से मैनेज कर सकते हैं। बरहाल हम इस लेख में, जमीन नामांतरण प्रक्रिया को समझने का प्रयास कर रहे हैं। तो चलिए Namantran MP ऑनलाइन दर्ज करने की प्रक्रिया को विस्तार पूर्वक समझते हैं।

नामांतरण के नियम 2023

मध्यप्रदेश में जमीन के नामांतरण हेतु आवेदन करने से पहले कुछ नियमों को ध्यान में रखना होगा। समय-समय पर मध्य प्रदेश मुख्य आयुक्त राजस्व विभाग के ऑफिशल पोर्टल (RCMS MP) पर नामांतरण, रजिस्ट्री एवं अन्य सूचनाओं को ऑफिशल वेबसाइट पर आम सूचना इश्तेहार फलक पर अपलोड कर दिया जाता है। कुछ नियम ऐसे हैं जिन्हें ध्यान में रखकर ही जमीन का नामांतरण हो सकता है जैसे:-

  • फौती नामांतरण सभी वारिसों के हक के आधार पर
  • फौती नामांतरण कुछ वारिसों के हक त्याग के साथ-साथ
  • फौती नामांतरण वसीयत के आधार पर
  • पंजीकृत विक्रयपत्र के आधार पर
  • पंजीकृत दान पत्र के आधार पर
  • पंजीकृत भूमिविनिमय पत्र के आधार पर
  • व्यवहार न्यायालय के डिक्री के आधार पर
  • नाबालिग से बालिग होने पर
  • बटाई/बंधक दर्ज करने हेतु
  • बटाई/बंधक विमुक्त करने हेतु
  • किसी अन्य प्रकार से हक अर्जन द्वारा

यह सभी जमीन नामांतरण के विलेख हैं जिन्हें ध्यान में रखते हुए नामांतरण प्रक्रिया को पूर्ण किया जाता है।

जमीन नामांतरण हेतु आवश्यक दस्तावेज

यदि आप मध्यप्रदेश में जमीन नामांतरण प्रक्रिया पूर्ण करना चाह रहे हैं। तो आपको कुछ दस्तावेज PDF File के रूप में तैयार करके रखने चाहिए। ताकि आप ऑनलाइन उन्हेंसबमिट कर सकें। MP Namantran Online करने से पहले इन दस्तावेजों को तैयार कर ले।

NOTE:- जमीन नामांतरण के दस्तावेज नामांतरण विलेख (नजूल भूमि हस्तांतरण) के  प्रकार पर ही तैयार किए जाएंगे। आवश्यक दस्तावेज को जानने के लिए आप ऑफिशल वेबसाइट पर जैसे ही आवेदन पर क्लिक करेंगे। तो नामांतरण अभिलेख का चुनाव करके दस्तावेज जानकारी जुटा सकते हैं। जिसे आपको नामांतरण प्रक्रिया पूर्ण करने से पहले तैयार करके रखने होंगे।

नामांतरण प्रक्रिया MP (ऑनलाइन नामांतरण  कैसे दर्ज करें)

मध्यप्रदेश में ऑनलाइन नामांतरण दर्ज करने के लिए सर्वप्रथम मध्य प्रदेश मुख्य आयुक्त राजस्व विभाग की ऑफिशल वेबसाइट पर विजिट करें और नीचे दी गई प्रक्रिया को ध्यानपूर्वक फॉलो करें।

  •  सर्वप्रथम ऑफिशल वेबसाइट पर विजिट करें।
  •  वेबसाइट होम पेज पर दिखाई दे रहे आवेदन पर क्लिक करें।
  •  आवेदन सेक्शन में नामांतरण पर क्लिक करें।
mp namantran

 अपने नामांतरण विलेख (नामांतरण प्रकार का चुनाव करें)

 उदाहरण के लिए हम पंजीकृत दान पत्र के आधार पर क्लिक कर रहे हैं।

Jameen Registry

NOTE:- अब यहां पर आगे प्रक्रिया पूर्ण करने के लिए कुछ दस्तावेज हमें पहले से PDF File के रूप में तैयार करके रखने होंगे। पंजीकृत दान पत्र के आधार पर पंजीकरण करने के लिए इन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी।

  • विक्रेता /खातेदार/दानकर्ता द्वारा धारित भूमि के खसरे की PDF File
  • विक्रय/दान भूमि के नक़्शे की PDF File
  • पंजीकृत दस्तावेज के प्रथम चार पृष्ठों को स्कैन कर PDF File

इन दस्तावेजों को तैयार करने के बाद ही ऑनलाइन प्रक्रिया पूर्ण की जा सकती है। अतः आप आवेदन करने से पहले इन दस्तावेजों को पूर्ण करें और ऑफिशल वेबसाइट पर ऑनलाइन आमंत्रण 6 स्टेप में पूर्ण किया जाएगा।

नामांतरण ऑनलाइन दर्ज करने के लिए ऑफिशल वेबसाइट पर पीडीएफ भी उपलब्ध है। जो आपको पूर्ण रूप से गाइड करती है। कि आपको ऑनलाइन  नामांतरण के लिए आवेदन कैसे करना है। इस पीडीएफ का लिंक हम यहां दे रहे हैं।

नामांतरण पंजी कैसे निकाले

यदि आपने मध्य प्रदेश मुख्य आयुक्त राजस्व विभाग (RCMS) के ऑफिशल पोर्टल पर नामांतरण के लिए आवेदन किया है। तो आपको वहां से एक रजिस्ट्रेशन नंबर दिया जाएगा। इसी रजिस्ट्रेशन नंबर के आधार पर नामांतरण पंजी ऑनलाइन निकाल सकते हैं। मध्यप्रदेश में नामांतरण पंजी ऑनलाइन देखने के लिए आप  नीचे दी गई प्रक्रिया फॉलो कर सकते हैं।

  • सर्वप्रथम RCMS MP पोर्टल पर विजिट करें।
  • वेबसाइट मैन्युबार में दिखाई दे रहे सर्च पर क्लिक करें।
MP Namantran Status
  • यहां पर आपको पंजीकरण नंबर, रजिस्ट्री नंबर LCK ID दर्ज करनी होगी।
  • सम्मिट पर क्लिक करें।
MP Namantran Status (2)

 यहां से आप नामांतरण पंजी ऑनलाइन देख सकते हैं। तथा MP Namantran Status को चेक कर सकते हैं।

मध्य प्रदेश राजस्व विभाग सहायता केंद्र

कार्यालय प्रमुख राजस्‍व आयुक्‍त, मध्‍यप्रदेश

220, राजस्‍व राहत भवन, अरेरा हिल्‍स, भोपाल,

Email ID prirevcom@mp.gov.in

कोई भी सहायता व्हाट्सएप पर प्राप्त करने के लिए इस नंबर का प्रयोग कर सकते हैं।

RCMS WhatsApp Number 9407299468

मध्य प्रदेश के समस्त जिलों की लिस्ट MP Namantran ऑनलाइन दर्ज कर सकते हैं:-

आगर मालवा  AgarMalwaअलीराजपुर Alirajpur
अनूपपुर Anuppurअशोकनगर Ashok Nagar
बालाघाट Balaghatबड़वानी Barwani
बैतूल Betulभिण्‍ड Bhind
बुरहानपुर Burhanpurछतरपुर Chhatarpur
भोपाल Bhopalछिंदवाड़ा Chhindwara
दतिया Datiaदमोह Damoh
देवास Dewasधार Dhar
ग्वालियर Gwaliorगुना Guna
हरदा Hardaडिंडौरी Dindori
होशंगाबाद Hoshangabadइंदौर Indore
जबलपुर Jabalpurझाबुआ Jhabua
खण्‍डवा Khandwaकटनी Katni
मंडला Mandlaखरगौन Khargone
नरसिंहपुर Narsinghpurनीमच Neemuch
मंदसौर Mandsaurमुरैना Morena
निवाड़ी Niwariपन्ना Panna
रायसेन Raisenराजगढ़ Rajgarh
रीवा Rewaसागर Sagar
रतलाम Ratlamसतना Satna
सिवनी Seoniसीहोर Sehore
शाजापुर Shajapurशहडोल Shahdol
सीधी Sidhiश्योपुर Sheopur
सिंगरौली Singrouliशिवपुरी Shivpuri
टीकमगढ़  Tikamgarhउज्जैन Ujjain
उमरिया Umariaविदिशा Vidisha

FAQ’s जमीन नामांतरण मध्य प्रदेश 2023

Q. नामांतरण पंजी कैसे निकाले मध्य प्रदेश?

Ans. यदि आप ने हाल ही में जमीन का पंजीकरण पूर्ण कर लिया है। तो अब ऑनलाइन नामांतरण दर्ज कर सकते हैं। नामांकन दर्ज करने के कुछ समय बाद ऑफिशल वेबसाइट से नामांतरण पंजी अर्थात नामांतरण स्थिति को ऑनलाइन देख सकते हैं। मध्यप्रदेश में नामांतरण स्थिति को ऑनलाइन चेक करने के लिए RCMS  ऑफिशल वेबसाइट पर सर्च करें। विकल्प पर क्लिक करें और रजिस्ट्री नंबर या नामांतरण रजिस्ट्रेशन नंबर को दर्ज करें। यहां से नामांतरण स्थिति देखी जा सकती है और नामांतरण पंजी को भी ऑनलाइन डाउनलोड किया जा सकता है।

Q. नामांतरण कैसे चेक करें?

Ans. रजिस्ट्री प्रक्रिया पूर्ण होने के पश्चात कुछ दिनों बाद आप नामांतरण दर्ज कर सकते हैं। ऑनलाइन नामांतरण दर्ज करने के उपरांत आपको रजिस्ट्रेशन नंबर दिया जाता है। जिससे ऑफिशल वेबसाइट से ट्रैक किया जा सकता है। एमपी राजस्व विभाग द्वारा RCMS ऑफिशल वेबसाइट तैयार की गई है। जहां से आप ऑनलाइन सर्च विकल्प पर क्लिक करके नामांतरण चेक कर सकते हैं।

Q. जमीन का नामांतरण कैसे होता है?

Ans. जमीन का नामांतरण दो प्रकार से होता है। एक कृषि भूमि नामांतरण दूसरा गैर कृषि भूमि नामांतरण। यदि कोई कृषि भूमि दूसरे किसान के नाम उत्परिवर्तन करनी होती है। तो उन्हें नामांतरण दर्ज करने की आवश्यकता है। तब जाकर मालिकाना हक प्राप्त किया जा सकता है। नामांतरण अभिलेखों का चुनाव करके आवश्यक दस्तावेज तैयार करने के उपरांत ऑनलाइन नामांतरण प्रक्रिया पूर्ण की जा सकती है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *