PMFBY Village List 2023 | पीएम फसल बीमा गांव अनुसार लाभार्थी लिस्ट देखें

By | January 19, 2023

PMFBY Village List:- प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना भारत के प्रत्येक राज्य में कार्यान्वित है। देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा 13 जनवरी 2016 को योजना का शुभारंभ किया गया। देश के लगभग 36 करोड से अधिक किसान इस योजना से जुड़ चुके हैं। देश के किसान जिन्होंने फसल को विकसित करने के लिए ऋण तो लिया है परन्तु प्राकृतिक आपदाओं से उसकी रक्षा करने में असमर्थ हैं। ऐसे में असहाय किसानों के लिए Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana का अनावरण किया जाना लाभप्रद साबित हो रहा है। PM Fasal Bima के लिए किसानों को खरीफ फसलों के लिए 2% और रबी फसलों के लिए 1.5% प्रीमियम का भुगतान करना पड़ता है। जो किसान वाणिज्य कृषि कर रहे हैं जैसे बागवानी उन्हें 5% बीमा प्रीमियम का भुगतान करना पड़ता है।

जो किसान PMFBY Crop Insurance के लिए आवेदन कर चुके हैं। अब लाभार्थी सूची में (PM Fasal Bima Beneficiary List 2023) नाम देख सकते हैं। इस लेख में हम आपको पीएम फसल बीमा योजना की ग्राम अनुसार लिस्ट (PMFBY Village List 2023) ऑनलाइन देखने की प्रक्रिया बता रहे हैं। तो चलिए इस लेख को आगे बढ़ाते हैं।

PM Fasal Bima Yojana List 2023

पीएम फसल बीमा योजना के अंतर्गत किसानों को बीमा करवाने हेतु सरकार द्वारा Online Portal उपलब्ध करवाने के साथ-साथ बैंक और सीएससी सेंटर (CSC Center) की सुविधा उपलब्ध करवाई है। अब किसान चाहे तो घर बैठे pmfby.gov.in वेबसाइट पर स्वयं आवेदन कर सकते हैं। जो किसान खुद से Crop Insurance के लिए आवेदन करते हैं। उन्हें एक रिसिप्ट नंबर (Receipt Number) दिया जाता है। इस रजिस्ट्रेशन नंबर के आधार पर किसान pmfby.gov.in पोर्टल पर PM Fasal Bima Status, PM Fasal Bima List को चेक कर सकते हैं। PMFBY Status चेक करने के लिए किसान को रिसिप्ट नंबर की आवश्यकता होगी। यह नंबर दर्ज करने के पश्चात तुरंत ही अपने बीमा पॉलिसी (PMFBY Application Status) को चेक कर सकते हैं। तो चलिए अब हम ऑफिशल वेबसाइट की ओर चलते हैं और गांव अनुसार लिस्ट (PMFBY Village Wishes List) को देखने की प्रक्रिया समझते हैं।

PMFBY Registration के लिए यहाँ क्लिक कर सकते हैं।

PMFBY Village List 2023 | पीएम फसल बीमा गांव अनुसार सूची

पीएम फसल बीमा योजना के लिए जिन किसानों ने बैंक से या सीएससी सेंटर से आवेदन किया है। तो उन्हें बेनेफिशरी अर्थात लाभार्थी सूची (PM Fasal  Bima Beneficiary List) भी बैंक और सीएससी सेंटर (CSC Center) से ही उपलब्ध होगी। तथा जिन किसानों ने pmfby.gov.in ऑफिशल पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कर के खुद से फसल बीमा के लिए आवेदन किया है। तो उन्हें ऑनलाइन एक रिसिप्ट नंबर दिया जाता है। इसी Receipt Number के आधार पर आप Fasal Bima List, Fasal Bima Status को देख सकते हैं। पीएमएफबीवाई लिस्ट देखने के लिए आप नीचे दी गई प्रक्रिया फॉलो कर सकते हैं।

सबसे पहले दिए गए लिंक पर क्लिक करें और ऑफिशल वेबसाइट पर आ जाए।

ऑफिशल वेबसाइट पर दिखाई दे रहे Application Status पर क्लिक करें।

 यहां पर अपना Receipt Number दर्ज करें।

 योजना से जुड़ी संपूर्ण जानकारी आपको यहां से देखने को मिलेगी।

PMFBY Beneficiary List | पीएमएफबीवाई लाभार्थी सूची 2023

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत जिन किसानों ने रबी फसल बीमा के लिए आवेदन किया है। रबी फसलों में जैसे गेहूं, चना, जो, सरसों, मेथी, रई, प्याज इत्यादि।  फसलों का सर्किल नवंबर से शुरू होकर मार्च अंत तक रहता है। अतःहै रबी फसल इंश्योरेंस के लिए आवेदन शुरू हो चुके हैं। आप जल्द से आवेदन कर सकते हैं।

खरीफ फसलों का सीजन जून से लेकर सितंबर अंत तक रहता है। जिसमें  मूंगफली, बाजरा, मूंग मोठ, गन्ना, जैसी फसलों का Fasal Bima करवा सकते हैं।  पीएमएफबीवाई लाभार्थी सूची उन्हीं किसानों की जारी होती है। जिन किसानों की फसल प्राकृतिक आपदाएं जैसे:- ओलावृष्टि, तेज बारिश, भूस्खलन, बाढ़ के दौरान फसल खराब हो जाती है। ऐसी फसलों को फसल बीमा योजना के अंतर्गत क्लेम दिया जाता है।

PM Fasal Bima Beneficiary List कैसे चेक करें।

 देखिए पीएम फसल बीमा योजना 3 माध्यमों से आवेदन की जाती है। पहला जो खुद किसान pmfby.gov.in पोर्टल पर आवेदन करते हैं। दूसरा सीएससी सेंटर (CSC Center) से आवेदन करते हैं। तथा जिन किसानों ने बैंक से किसान क्रेडिट कार्ड लोन (KCC) ले रखा है। उन्हें बैंक से ही PMFBY के लिए आवेदन कर दिया जाता है। जिन किसानों की फसल बर्फबारी, पाला, मूसलाधार बारिश बाढ़, इत्यादि से खराब हो जाती है। तो उन्हें 72 घंटे के  भीतर इंश्योरेंस कंपनी (Insurance Company) या बैंक सीएससी सेंटर को सूचित करना होगा। इंश्योरेंस कंपनियों द्वारा फसल का सर्वेक्षण किया जाता है। इसी सर्वेक्षण के आधार पर ही लाभार्थी सूची तैयार की जाती है। जिन किसानों को क्लेम मिलना है। उन्हें सीधा DBT (Direct Balance Transfer) पद्धति के माध्यम से क्लेम की राशि अकाउंट में ट्रांसफर कर दी जाती है।

गतिविधि कैलेंडररबीखरीफ
अनिवार्य आधार पर लोनी किसानों के लिए स्वीकृत ऋण।अक्टूबर से दिसम्बर तकअप्रैल से जुलाई तक
किसानों के प्रस्तावों की प्राप्ति के लिए कट ऑफ़ तारीख (ऋणदाता और गैर-ऋणदाता)।31 दिसम्बर31 जुलाई
उपज डेेटा प्राप्त करने के लिये कट आफ तारीखअतिंम फसल के एक महीने के भीतरअतिंम फसल के एक महीने के भीतर

पीएमएफबीवाई फसल बीमा क्लेम लिस्ट | Pm Fasal Bima Claim List

पीएम फसल बीमा योजना के अंतर्गत किसानों को खरीफ फसलों के लिए 2% प्रीमियम राशि का भुगतान करना पड़ता है। रबी फसलों के लिए 1.5% प्रीमियम राशि का भुगतान करना पड़ता है। बागवानी फसलों के लिए 5%  प्रीमियम राशि का भुगतान करना पड़ता है। इसके अतिरिक्त प्रीमियम राशि का भुगतान केंद्र सरकार द्वारा किया जाता है। चाहे वह राशि 90% ही क्यों ना हो। PM Fasal Bima Scheme के अंतर्गत खराब हुई रबी एवं खरीफ की फसलों का विवरण इस प्रकार है।

फसलप्रीमियम राशि
धान713.99 रुपए प्रति एकड़
मक्का356.99 रुपए प्रति एकड़
बाजरा335.99 रुपए प्रति एकड़
कपास1732.50 रुपए प्रति एकड़
गेहूं409.50 रुपए प्रति एकड़
जौ267.75 रुपए प्रति एकड़
चना204.75 रुपए प्रति एकड़
सरसो275.63 रुपए प्रति एकड़
सूरजमुखी267.75 रुपए प्रति एकड़

राज्य अनुसार PMFBY लाभार्थी सूची | State Wise PMFBY Beneficiary List

भारत के प्रत्येक राज्य में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना कार्यान्वित है। कुछ राज्यों में राज्य सरकार द्वारा फसल सहायता, फसल राहत इत्यादि योजनाएं शुरू की गई है। जैसे बिहार में मुख्यमंत्री फसल सहायता योजना, राजस्थान फसल बीमा योजना  भारत के जिन राज्यों में Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana  कार्यान्वित है उन राज्यों की सूची इस प्रकार है:-

FAQ’s PMFBY Village List 2023

Q. पीएमएफबीवाई स्टेटस कैसे चेक करें?

Ans. प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत आवेदन स्थिति को ऑनलाइन चेक करने के लिए पीएमएफबीवाई ऑफिशल पोर्टल pmfby.gov.in पर विजिट कर सकते हैं। रिसिप्ट नंबर दर्ज करके PMFBY Status चेक कर सकते हैं।

Q. प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से कितने किसान जुड़ चुके हैं?

Ans. पीएम फसल बीमा योजना से देश भर में अब तक 36 करोड़ किसान फसल बीमा के लिए आवेदन कर चुके हैं और इस योजना से निरंतर लाभान्वित हो रहे हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *